क्या श्रमिक के अलावा किसानों को भी मिलता है ई-श्रम कार्ड का फायदा? ये है इस योजना के नियम

e-SHRAM Card Benefits: भारत में एक बड़ी आबादी असंगठित क्षेत्र से जुड़ी हुई है. ऐसे में इन कामगारों को कई बार बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ता है. इन सभी परेशानियों को देखते हुए साल 2021 में केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) ने एक बेहद खास योजना की शुरुआत की. इस योजना का नाम है ई-श्रम कार्ड (e-shram card) योजना. इस योजना की शुरुआत मुख्य रूप से असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए की गई है. साल 2021 में सरकार ने इस योजना के सही तरह से लोगों तक पहुंच बनाने के लिए ई-श्रम पोर्टल (e-shram card) की शुरुआत की थी.

बता दें कि सरकारी आंकड़ों के अनुसार अब तक देश के 24 करोड़ श्रमिकों ने अपना रजिस्ट्रेशन करा लिया है और सरकार का लक्ष्य कम से कम 38 करोड़ श्रमिकों को रजिस्ट्रेशन कराने का है. लेकिन, इस योजना के अनुसार बहुत से लोगों के मन में यह सवाल उठता है कि क्या किसान इस योजना का लाभ उठा सकते हैं. तो चलिए हम आपको बताते है कि ई-श्रम पोर्टल में रजिस्ट्रेशन किसान करवा (Registration in e-Shram Portal) सकते हैं या नहीं-

ई-श्रम योजना द्वारा मिलती है ये सुविधा-
ई-श्रम योजना के तहत सभी श्रमिकों को 2 लाख रुपये तक का दुर्घटना बीमा दिया जाता है. इसके साथ ही लाभार्थियों को आगे चलकर पेंशन (Pension) का फायदा देने की भी तैयारी है. वहीं इस कार्ड के जरिए लोगों को इलाज और बीमारी के दौरान भी कई तरह की आर्थिक सहायता दी जाएगी. वहीं गर्भवती महिलाओं (Pregnant Ladies) को भरण-पोषण की मदद भी दी जाएगी. इसके साथ ही बच्चों की पढ़ाई और घर बनवाने की आर्थिक सहायता (Financial Help) भी दी जाएगी. इस योजना के तहत सरकार सीधे आपके बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर (Money Transfer) कर सकती है. इसके साथ ही अगर कोई श्रमिक दुर्घटना का शिकार हो जाता है या फिर मृत्यु या फिर पूर्ण विकलांगता की हालत में आपको करीब 2 लाख रुपये की सहायता राशि मिलेगी. वहीं आंशिक रूप से विकलांग होने पर 1 लाख रुपये की राशि की मदद दी जाएगी.

ये भी पढ़ें: PMEGP: उद्योगों के लिए सरकार की बढ़िया स्कीम, मिलती है आर्थिक मदद, ये है सब्सिडी की सुविधा

यह लोग ले सकते हैं योजना का लाभ
आपको बता दें कि ई-श्रम कार्ड में केवल असंगठित क्षेत्र के कारीगर जैसे घरेलू कामकाज, सेल्फ एंप्लॉयड (Self Employed), दैनिक वेतन भोगी, मजदूर, प्रवासी मजदूर (Migrant Labour), रेहड़ी-पटरी वाले ही रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. वहीं इस योजना में केवल कृषि श्रमिक और भूमिहीन किसान ही रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. वहीं जिन किसानों के पास अपनी जमीन है वह इस पोर्टल में रजिस्ट्रेशन नहीं कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: e-Shram Card Self Registration 2022 : पोर्टल पर 19 करोड़ श्रमिकों ने किया रजिस्ट्रेशन! विवरण और अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं को अपडेट करने का तरीका देखें

[ad_2]

Source

Leave a Comment

Your email address will not be published.