pardhanmantri mudra yojna in hindi

प्रधान मंत्री मुद्रा लोन करेगा आपके बिज़नस करने के सपने को साकार

[ad_1]

PM Mudra Yojana: अगर आपके पास भी एक जबरदस्त बिजनेस प्लान है, लेकिन पैसों की कमी के कारण आपका सपना पूरा नहीं हो पा रहा, तो कोई बात नहीं. सरकार की प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (मुद्रा लोन) आपको अपने सपने के करीब लेकर जाएगी. इस योजना में सरकार 10 लाख रुपये तक का लोन देती है.

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री भागवत किसनराव कराड (Bhagwat Kisanrao Karad) ने सदन को बताया कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) के तहत वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान कुल 3.22 लाख करोड़ रुपये का लोन मंजूर किया गया. हालांकि सरकार का लक्ष्य 3.5 लाख करोड़ रुपये का लोन देना था.

राज्य सभा में एक प्रश्न के लिखित जवाब में उन्होंने कहा कि अप्रैल, 2015 में इसकी स्थापना के बाद से 31 दिसंबर, 2021 तक, PMMY के तहत 17.32 लाख करोड़ रुपये की स्वीकृत राशि वाले 32.53 करोड़ से अधिक लोन दिए गए हैं.

कैसे मिलता है लोन

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत किसी भी कुटीर उद्योग, छोटी असेंबलिंग यूनिट, सर्विस सेक्टर यूनिट, दुकानदार, फल/सब्जी विक्रेता, ट्रक परिचालक, खाद्य-सेवा इकाइयां, मरम्मत की दुकानें, मशीन परिचालन, लघु उद्योग, दस्तकार, फूड प्रोसेसिंग यूनिट शुरू करने के लिए लोन लिया जा सकता है. इसके लिए सरकार 10 लाख रुपये तक का लोन देती है.

मुद्रा योजना विशेषताएं

  • सुविधा का प्रकार: कार्यशील पूंजी और सावधि ऋण
  • उद्देश्य: व्यावसायिक उद्देश्य, क्षमता विस्तार, आधुनिकीकरण
  • लक्ष्य समूह: संबद्ध कृषि गतिविधियों सहित विनिर्माण, व्यापार और सेवा क्षेत्र में व्यावसायिक उद्यम।
  • ऋण की मात्रा (न्यूनतम/अधिकतम)
    • अधिकतम ऋण राशि : 10 लाख रुपये तक
    • 50,000 रुपये तक के ऋण को शिशु के रूप में वर्गीकृत किया गया है
    • 50,001 से 500,000 रुपये तक के ऋणों को किशोर . के रूप में वर्गीकृत किया गया है
    • रु.500,001/- से रु.10,00,000/- तक के ऋणों को तरुण के रूप में वर्गीकृत किया गया है
  • मार्जिन (%)
    • रुपये तक 50,000/- शून्य
    • रु. 50,001 से रु. 10 लाख: 10%
  • मूल्य निर्धारण: प्रतिस्पर्धी मूल्य निर्धारण एमसीएलआर से जुड़ा हुआ है
  • पुनर्भुगतान की अवधि
    • WC/TL: गतिविधि/आय सृजन के आधार पर 6 महीने तक की मोहलत सहित 3 – 5 वर्षों में।
    • डब्ल्यूसी/टीएल की सालाना समीक्षा की जाएगी।
  • प्रक्रमण संसाधन शुल्क
    • शिशु और किशोर के लिए एमएसई इकाइयों के लिए शून्य
    • तरुण के लिए: ऋण राशि का 0.50% (साथ ही लागू कर)

[ad_2]

Leave a Comment

Your email address will not be published.