यहां 10 गुना बढ़ा ट्रैफिक नियम तोड़ने पर जुर्माना, 400 की 4000 तो 500 की 5000 रुपये हुई पेनल्टी

यहां 10 गुना बढ़ा ट्रैफिक नियम तोड़ने पर जुर्माना, 400 की 4000 तो 500 की 5000 रुपये हुई पेनल्टी

Traffic Rules Violation Penalty: ट्रैफिक नियमों (Traffic Rules) को तोड़ने पर लगने वाले जुर्माना (Penalty) आपको सड़क पर चलते समय (Road Safety) सतर्क रहने में मदद करता है. हालांकि इस राज्य की सरकार ने एकाएक पेनल्टी बढ़ाकर लोगों को झटका दिया है. 

पश्चिम बंगाल में बढ़ा यातायात उल्लंघन पर लगने वाला जुर्माना
सड़क हादसों को कम करने उद्देश्य से पश्चिम बंगाल सरकार ने मोटर वाहन अधिनियम के तहत यातायात उल्लंघन जुर्माना बढ़ाने का फैसला किया है. एक नोटिफिकेशन में यह जानकारी दी गई. केन्द्र सरकार ने 2019 में जुर्माना बढ़ा दिया था लेकिन पश्चिम बंगाल सरकार ने ‘आम आदमी को होने वाली कठिनाइयों’ का हवाला देते हुए अभी तक जुर्माना नहीं बढ़ाया था.

500 की जगह 5000 तो 400 की जगह 4000 रुपये का जुर्माना
राज्य परिवहन विभाग की ओर से मंगलवार को जारी की गई एक नोटिफिकेशन के मुताबिक बिना लाइसेंस के कार चलाने वाले व्यक्ति को 500 रुपये की जगह अब 5000 रुपये का जुर्माना भरना पड़ेगा. इसी तरह, लापरवाही से गाड़ी चलाने वाले को 4000 रुपये तक का जुर्माना देना होगा, जो पहले 400 रुपये था. सड़क पर गाड़ी चलाने के नियमों का उल्लंघन करने पर 500 रुपये से 1000 रुपये के बीच की राशि का जुर्माना होगा, जबकि कार बीमा नहीं होने पर 2000 रुपये और सड़क पर गाड़ी तेज दौडा़ने के लिए 5000 रुपये का जुर्माना भरना होगा.

इस गलती पर लगेगा 10,000 रुपये का जुर्माना
नोटिफिकेशन के मुताबिक बिना रोड परमिट के कोई भी वाहन चलाने पर 10,000 रुपये और रजिस्ट्रेशन नहीं होने पर 5000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा. बिना हेल्मेट के वाहन चलाने पर एक हजार रुपये का जुर्माना लगेगा. ‘साइलेंट जोन’ में हॉर्न बजाने पर 2000 रुपये से 4000 रुपये तक का जुर्माना लगाया जाएगा.

नोटिफिकेशन के मुताबिक कुल 26 यातायात उल्लंघनों के लिए जुर्माना बढ़ा दिया गया है और कहा गया है कि ‘नए दिशानिर्देश जल्द अमल में आ जाएंगे. यातायात पुलिस कर्मी और मोटर वाहन निरीक्षक जुर्माना वसूल सकते हैं. जुर्माना बढ़ने से एक ओर सरकार का राजस्व बढ़ेगा और दूसरा ये लोगों को नियमों का पालन करने के लिए भी प्रेरित करेगा.’

[ad_2]

Source

Leave a Comment

Your email address will not be published.