हेल्थ इंश्योरेंस रिन्यू करवाते वक्त इन बातों पर दें ध्यान, नहीं तो बाद में हो सकती है परेशानी

हेल्थ इंश्योरेंस रिन्यू करवाते वक्त इन बातों पर दें ध्यान, नहीं तो बाद में हो सकती है परेशानी

हेल्थ इंश्योरेंस: कोरोना संकट के बाद से लोगों में हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) को लेकर जागरुकता बढ़ी है. लोग अब ज्यादा से ज्यादा हेल्थ इंश्योरेंस करा रहे हैं. हेल्थ इंश्यरोरेंस को भी अन्य पॉलिसियों की तरह एक निश्चित समय के बाद रिन्यू कराना होता है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं हेल्थ इंश्योरेंस रिन्यू करते वक्त आपको किन बातों पर ध्यान देना चाहिए.

बीमा राशि पर करें विचार
रिन्यूअल कराते समय आप अपनी बीमा राशि की सीमा को बढ़ाने का विकल्प चुन सकते हैं. बढ़ती हुई मेडिकल जरूरत के कारण यह हो सकता है कि शुरूआत में आपके द्वारा चुनी गई बीमा राशि आने वाले वर्षों के लिए नाकाफी हो जाए. इसलिए इंश्योरेंस रिन्यू कराते वक्त इस बात पर जरूर सोचना चाहिए कि कहीं आपको अपनी बीमा राशि की सीमा बढ़ानी तो नहीं है.

टॉप-अप प्लान
अगर आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस में कुछ अतिरिक्त कवर चाहिए तो आप रिन्यूअल के टाइम टॉप-अप योजना का लाभ उठा सकते हैं. इन प्लान की कीमत काफी कम होती है और ये आपको पॉलिसी के अलावा कुछ एक्स्ट्रा कवरेज प्रदान करते हैं. टॉप-अप प्लान्स किसी भी बीमाकर्ता से खरीदे जा सकते हैं. इसे मौजूदा बीमाकर्ता से खरीदना जरूरी नहीं है.

नई बीमारियां
अगर आपने अपने परिवार के लिए हेल्थ इंश्योरेंस ली है कि और खुदा ना खास्ते परिवार के किसी सदस्य को कोई नई बीमारी हो जाए तो इसकी जानकारी रिन्यूअल के दौरान बीमा कंपनी को जरूर दें. अगर आप ऐसा नहीं करते हैं आगे चलकर आपको क्लेम फाइल करते समय परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

समय पर रिन्यू कराएं बीमा पॉलिसी
अगर आप अपनी पॉलिसी को समय पर रिन्यू नहीं करते हैं, तो पॉलिसी समाप्त हो जाएगी और कवर की अवधि के दौरान प्राप्त होने वाले बेनिफिट नहीं मिलेंगे. पॉलिसी समय पर रिन्यू करने से बीमाकर्ता को आपके रिन्यूअल अप्पलीकेशन को स्वीकार करना ही होगा. यदि पॉलिसी समाप्त हो जाती है तो बीमाकर्ता कान्ट्रेक्ट को रिन्यू कर सकता है या नहीं भी कर सकता है.

[ad_2]

Source

Leave a Comment

Your email address will not be published.