25 जनवरी 2022 से पीएमसी बैंक जाना जाएगा यूनिटी स्मॉल फाइनैंस बैंक के नाम से, आरबीआई का आदेश

PMC Bank: पीएमसी बैंक और यूनिटी स्मॉल फाइनैंस बैंक के बीच आपस में विलय को आरबीआई से मंजूरी मिल गई है. आरबीआई ने कहा है कि 25 जनवरी 2022 से पीएमसी बैंक Unity Small Finance Bank के नाम से ऑपरेट करेगा. 

सरकार ने पीएमसी बैंक और Unity Small Finance Bank के आपस में विलय को मंजूरी दे दी जिसके बाद आरबीआई की ओर से ये ऐलान आया है. 25 जनवरी से पीएमसी की सभी शाखाएं Unity Small Finance Bank के नाम से जानी जाएंगी. अब इसे विलय को लागू करने को लेकर जरुरी कदन उठाये जा रहे हैं. आरबीआई के मुताबिक नोटिफिकेशन जारी किए जाने के बाद पीएमसी बैंक के एसेट्स डिपॉजिट्स और देनदारी का भार Unity Small Finance Bank पर रहेगा.

पीएमसी बैंक में हुए फ्रॉड के बाद आरबीआई ने पीएमसी के बोर्ड को भंग करते हुए सितंबर 2019 में उसे अपने अंडर में ले ली. बैंक के ऊपर बकाये कर्ज का कुल 70 फीसदी 8383 करोड़ रुपये रियल एस्टेट एचडीआईएल द्वारा लिया गया था. पीएमसी बैंक के पास कुल 10727 करोड़ रुपये का डिपॉजिट है. बैंक ने 4472 करोड़ रुपये का कर्ज दिया हुआ है. और 31 मार्च 2020 तक 3518 करोड़ रुपये बैंक का एनपीए है. पीएमसी के पास शेयर कैपिटल 292 करोड़ है. पीएमसी बैंक को 2019-20 में 6835 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था वहीं बैंक के पास 5850 करोड़ रुपये का नेगेटिव नेटवर्थ है.

पीएमसी बैंक ks ड्रॉफ्ट स्कीम के मुताबिक Unity Small Finance Bank पीएमसी बैंक के डिपॉजिटर्स को DICGC (Deposit Insurance and Credit Guarantee Corporation) की गारंटी के तहत 5 लाख रुपये देगी. दो सालों के बाद 50,000 रुपये, तीन सालों बाद एक लाख रुपये, चार सालों के बाद 3 लाख रुपये पांच सालों के बाद 5.5 लाख रुपये और बाकी के बचे रकम 10 सालों के बाद डिपॉजिटर्स को दे दिया जाएगा.

Source

Leave a Comment

Your email address will not be published.