DSP mutual fund

Mutual Fund: टैक्‍स सेविंग के साथ बंपर रिटर्न वाली स्‍कीम; 5 साल में 1 लाख के बन गए 3 लाख

[ad_1]

Mutual Fund ELSS: म्‍यूचुअल फंड में निवेशकों के पास टैक्‍स सेविंग्‍स के साथ दमदार रिटर्न हासिल करने का भी ऑप्‍शन है. म्‍यूचुअल फंड की इक्विटी लिंक्ड सेविंग्स स्कीम (ELSS) में निवेश पर सेक्‍शन 80C के तहत 1.50 लाख रुपये तक टैक्स डिडक्‍शन का फायदा मिलता है. ELSS में टैक्‍स डिडक्‍शन के साथ मिलने वाले रिटर्न के चलते निवेशकों का रुझान तेजी से इन स्‍कीम्‍स में बढ़ा है. ईएलएसएस स्‍कीम्‍स का रिटर्न चार्ट देखें, तो टॉप 5 फंड्स में औसतन 20 फीसदी से 25 फीसदी तक का सालाना रिटर्न रहा है. सबसे ज्‍यादा रिटर्न देने वाली स्‍कीम्‍स में 5 साल के भीतर 1 लाख रुपये के एकमुश्‍त निवेश की वैल्‍यू 3 लाख से ज्‍यादा हो गई है. 

ELSS में बढ़ रहा इनफ्लो 

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के आंकड़ों के मुताबिक, इक्विटी स्‍कीम्‍स में ELSS के जरिए दिसंबर 2021 में 567.04 करोड़ रुपये का इनफ्लो हुआ. जबकि नवंबर में ELSS में 174 करोड़ रुपये का इनफ्लो हुआ था. वहीं, अक्‍टूबर में इस स्‍कीम्‍स से 488 करोड़ रु का आउटफ्लो देखा गया था. डबल बेनेफिट के चलते सैलरीड क्‍लास के बीच यह एक पॉपुलर टैक्‍स सेविंग इंस्‍ट्रूमेंट है. इसमें 3 साल का लॉक इन पीरियड होता है. यानी मिनिमम 3 साल तक आपको अपना निवेश इसमें रखना जरूरी होता है. 

टैक्‍स सेविंग प्रोडक्‍ट में सबसे कम लॉक-इन

BPN फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम का कहना है कि इक्विटी लिंक्‍ड सेविंग्‍स स्‍कीम्‍स (ELSS) में इनकम टैक्‍स के सेक्‍शन 80C के अंतर्गत निवेश पर 1.50 लाख रुपये तक टैक्‍स डिडक्‍शन मिलता है. यह टैक्‍स सेविंग के लिहाज से सबसे कम 3 साल का लॉक इन प‍ीरियड वाला प्रोडक्‍ट है. इसका मतलब कि आपने जब निवेश किया है, उसके तीन साल बाद पैसा निकाल सकते हैं. दूसरे टैक्‍स सेविंग ऑप्‍शन को देखें तो उनमें लॉक इन पीरियड ज्‍यादा है. जैसेकि बैंक एफडी में 5 साल, PPF में 15 साल का है. ELSS में निवेश एकमुश्‍त और हर महीने सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के जरिए भी किया जा सकता है. 

इस स्‍कीम में 5 साल में ट्रिपल हुई वेल्‍थ 

ELSS कैटेगरी में अगर सबसे ज्‍यादा रिटर्न देने वाली स्‍कीम देखें, तो वह क्‍वांट टैक्‍स प्‍लान (Quant Tax Plan) है. क्‍वांट टैक्‍स प्‍लान का बीते 5 साल में सालाना रिटर्न औसतन 25.50 फीसदी रहा है. इस स्‍कीम में मिनिमम एकमुश्‍त 500 रुपये का निवेश कर सकते हैं. वहीं, मिनिमम 500 रुपये की SIP से भी निवेश शुरू किया जा सकता है. 31 दिसंबर 2021 तक इस का एसेट्स 658 करोड़ रुपये रहा. वहीं, इस स्‍कीम में एक्‍सपेंश रेश्‍यो 0.57 फीसदी है.

इसके अलावा, टैक्‍स सेवर म्‍यूचुअल फंड्स में अन्‍य टॉप रिटर्न देने वाली स्‍कीम्‍स को देखें, तो उनमें मिराए एसेट टैक्‍स सेवर फंड (5 साल में औसतन 21.57 फीसदी सालाना) और BOI AXA टैक्‍स एडवांटेज फंड (5 साल में औसतन 20.75 फीसदी) हैं. 

(डिस्‍क्‍लेमर: यहां स्‍कीम्‍स के प्रदर्शन की जानकारी दी गई है, यह निवेश की सलाह नहीं है. निवेश से पहले अपने एडवाइजर से परामर्श कर लें.)   

[ad_2]

 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 shares gave up to 53.6% returns in 5 days Tata Mutual Funds are proved money doubling schemes Foreign banks FDs : High interest rates in India Top 10 loss-making companies in the country Where petrol is cheaper than tea, tax zero