सेक्योर्ड और अनसेक्योर्ड लोन में अंतर | Difference between Secured Loan and Unsecured Loan in Hindi

Secured loan and Unsecured loan in Hindi

दोस्तों आज हम जानेंगे कि Secured Loan क्या होता है (Secured loan meaning in Hindi) और Unsecured Loan क्या होता है. इस पोस्ट को पढ़कर आपको समझ आ जायेगा कि सेक्योर्ड और अनसेक्योर्ड लोन में क्या अंतर होता है, कब कौन सा लेना चाहिए, कौन से लोन में ज्यादा जोखिम होता है. कोई भी लोन लेने से पहले आपको Secured Loan and Unsecured Loan के बारे में पता होना चाहिए. जब भी आप कोई लोन लेते है चाहे वो होम लोन या पर्सनल लोन मतलब कोई भी लोन वो सारे लोन दो केटेगरी में आते है-Secured Loan and Unsecured Loan. जो लोन बैंकों के लिए सुरक्षित और फायदेमंद होता है उसे Secured Loan कहा जाता है और जो लोन बैंकों के लिए असुरक्षित होता है उसे Unsecured Loan कहा जाता है. तो चलिए जानते है कि सेक्योर्ड लोन और अनसेक्योर्ड लोन क्या होता है. और सेक्योर्ड लोन और अनसेक्योर्ड लोन में क्या अंतर है

Table of Contents show

Secured loan and unsecured loan in Hindi

Secured Loan क्या होता है- Secured loan meaning in Hindi

“जब कोई संपत्ति गिरवी रखकर लोन लिया जाता है तो वो सेक्योर्ड लोन कहलाता है. सिक्योर्ड लोन हमेशा किसी गारंटी या संपत्ति (Asset) पर दिया जाता है. जैसे अगर आपने गाडी खरीदने के लिए Auto Loan लिया है तो आपकी गाडी पर बैंक का अधिकार तब तक रहेगा जब तक कि आप गाड़ी का सारा लोन चुका ना दे.”

होम लोन, गोल्ड लोन, संपत्ति पर ऋण और कार लोन सेक्योर्ड लोन के सबसे अच्छे उदाहरण है. चूँकि ये लोन आपकी संपत्ति प्रॉपर्टी पर दिया जाता है इससे बैंक का पैसा सुरक्षित हो जाता है, बैंक को भरोसा हो जाता है कि अगर आपने पैसा नहीं दिया तो आपकी संपत्ति बेचकर पैसा वसूल हो जायेगा और इसलिए इसमे ब्याज दर कम होती है. इसका सबसे बड़ा नुकसान यही है कि अगर आपने समय पर लोन नहीं चुकाया तो आपकी  संपत्ति बेच दी जाती है.

Secured loan meaning in Hindi

Secured loan को हिंदी में सुरक्षित कर्ज या जमानती ऋण कहते है.

Secured Loan में आप क्या क्या गिरवी रख सकते है?

  • रियल स्टेट प्रॉपर्टी जैसे घर, कमर्शियल बिल्डिंग, भूमि
  • म्यूच्यूअल फण्ड, स्टॉक्स, बांड्स
  • Life insurance पालिसी
  • गाड़ी,बाइक
  • गोल्ड, कीमती पत्थर
  • मशीनरी, उपकरण, फ़र्नीचर

Secured Loan के फायदे और नुकसान 

कर्ज हमेशा रिस्क के साथ आता है. कर्ज लेने पर कर्ज चुकाना ही होता है. लेकिन कभी कभी कर्ज के आलावा कोई उपाय भी नहीं होता है.  Secured Loan या सुरक्षित लोन बैंक के लिए सुरक्षित होता है हमारे लिए नहीं. इसीलिए सुरक्षित कर्ज के फायदे के साथ नुकसान भी आते है.

Secured Loan के फायदे-Advantage Of Secured Loan

  • सुरक्षित लोन या सेक्योर्ड लोन ज्यादा समय के लिए मिल जाता है.
  • सेक्योर्ड लोन में ब्याज दर कम होती है. आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा होने पर आपके लिए ब्याज दर और भी कम हो सकती है.
  • सुरक्षित लोन में ज्यादा लोन राशि मिल जाती है.
  • सुरक्षित लोन में आप समय अपर राशि चुकाकर अपना क्रेडिट स्कोर में सुधार कर सकते है.
  • सेक्योर्ड लोन जल्दी पास कर दिया जाता है.
  • ये लोन नॉन सैलरी वाले लोग भी ले सकते है.
  • टैक्स बेनेफिट्स 

Secured Loan के नुकसान-Disadvantages of Secured Loans

  • संपत्ति का नुकसान-सुरक्षित लोन आपकी संपत्ति को गिरवी रखकर दिया जाता है. समय पर लोन ना चुकाने पर आपकी संपत्ति की नीलामी हो सकती है. कर्जदार होने पर आपकी जो भी कमाई होती है वो सीधे बैंक को जाती है.
  • क्रेडिट स्कोर पर प्रभाव-सुरक्षित लोन का समय से भुगतान ना करने पर संपत्ति तो जाती ही है साथ में क्रेडिट स्कोर भी ख़राब हो जाता है जिससे आगे लोन लेने में दिक्कत हो सकती है.
  • ज्यादा कागजी कारवाई-सुरक्षित ऋण के लिए के लिए आपको बहुत से डॉक्यूमेंट सबमिट करने होते है और बहुत जगह हस्ताक्षर भी करना होता है.

Unsecured Loan क्या होता है-What is Unsecured Loan in Hindi

“जब कोई लोन बिना किसी गारंटी के दिया जाता है तो वो अनसिक्योर्ड लोन (असुरक्षित ऋण) कहलाता है. इस लोन में आपसे कोई भी गारंटी नहीं ली जाती है. अनसिक्योर्ड लोन हमेशा ग्राहक की वित्तीय दक्षता जैसे क्रेडिट हिस्ट्री, सैलरी आदि देखकर दी जाती है. पर्सनल लोन में सिक्योर्ड लोन की अपेक्षा ब्याज दर अधिक होती है और ये कम समय के लिए दिए जाते है.”

असुरक्षित ऋण, किसी संपत्ति से जुड़ा नहीं होता है मतलब आपको घर गाड़ी आदि गिरवी नहीं रखनी पड़ती है. असुरक्षित ऋण ग्राहक को ज्यादा परेशान नहीं करता है.

पर्सनल लोन, सिग्नेचर लोन (Signature loan) एजुकेशन लोन, इंस्टेंट लोन, क्रेडिट कार्ड लोन और बिज़नेस लोन अनसिक्योर्ड लोन के सबसे अच्छे उदाहरण है. Unsecured Loan बैंकों के लिए असुरक्षित ऋण होते है क्योंकि इसमे आपसे आपसे कोई भी गारंटी नहीं ली जाती है. जैसे अगर आपने Unsecured Loan लिया और आप बेरोजगार हो गए है और आप लोन चुकाने में असमर्थ है तो Lenders (उधारदाताओं) को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ेगा. वो बिना किसी क़ानूनी निर्णय के आपके संपत्ति को नहीं बेच सकते है. और ऐसे केस में Lender कोर्ट जाना पड़ेगा. 

Unsecured loan meaning in Hindi

Unsecured loan को हिंदी में असुरक्षित ऋण कहते है.

Unsecured Loan नहीं चुकाने पर क्या होगा ?

Unsecured Loan नहीं चुकाने से आपका cibil score ख़राब हो जाता है. जिससे भविष्य में आपको लोन मिलने में बहुत मुश्किल होगी. और कोई भी बैंक आपको लोन नहीं देगा.

Unsecured Loan लेने के लिए जरुरी बाते

  • Unsecured Loan लेने के लिए आपकी Cibil Score अच्छी होनी चाहिए.  Cibil Score 750 है तो आपको आसानी से Unsecured Loan मिल जायेगा. वैसे Unsecured Loan के लिए Cibil Score 720 से ऊपर होना चाहिए.
  • आपकी क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी होनी चाहिए.
  • आपके पास सोर्स ऑफ़ इनकम होना चाहिए. बैंक ये देखती है कि आप सैलरी वाले है या फिर कोई बिज़नस करते है. वेतनभोगी आवेदक से सैलरी स्लिप जैसे डॉक्यूमेंट मांगे जाते है और बिज़नेस वालो से business ownership जैसे डॉक्यूमेंट देना होता है.

Unsecured Loan के फायदे और नुकसान 

असुरक्षित ऋण ग्राहक को फायदे के साथ थोडा नुकसान भी देता है. जैसे ऋण का भुगतान नहीं करने पर व्यक्ति या व्यवसाय की क्रेडिट रेटिंग को बुरी तरह से प्रभावित करती है और जिससे फिर से क्रेडिट प्राप्त करना मुश्किल हो जाता है.

Unsecured Loan के फायदे-Advantage Of Unsecured Loan

  • असुरक्षित ऋण लेना बहुत ही आसान होता है. इसके लिए आपको बैंक जाने की भी जरुरत नहीं है. आप ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते है. 
  • कोई संपत्ति जब्त होने का खतरा नहीं.
  • लोन जल्दी चुकाने पर क्रेडिट स्कोर जल्दी से सुधर जाता है. जिससे अगली बार ज्यादा लोन लेने में कोई दिक्कत नहीं होती है.
  • आपकी सैलरी जितनी ज्यादा होगी उतना ही ज्यादा लोन आपको मिल सकता है.
  • असुरक्षित ऋण में कम दस्तावेज लगते है और अब तो ऑनलाइन ही डॉक्यूमेंट जमा करके भी इस तरह के लोन तेजी से दिए जाते है.
  • बैंक अनसेक्योर्ड लोन देने की प्रक्रिया को तेजी से करते है और आज कल तो मिनटों में ही ऐसे लोन दिए जाते है.  

Unsecured Loan के नुकसान-Disadvantages of Unsecured Loans

  • असुरक्षित ऋण कम समय के लिए दिया जाता है.
  • सिक्योर्ड लोन की अपेक्षा ब्याज दर ज्यादा 
  • ज्यादा ब्याज दर 
  • लोन राशि कम मिलती है.
  • कोई टैक्स लाभ नहीं 

सेक्योर्ड और अनसेक्योर्ड लोन में अंतर- Difference between Secured Loan and Unsecured Loan in Hindi

Secured Loan Unsecured Loan
1- संपत्ति किसी संपत्ति को गारंटी मानकर सेक्योर्ड लोन दिया जाता है. अनसिक्योर्ड लोन मे लोन बिना किसी गारंटी के दिया जाता है.
2- जोखिम  लोन देने वाली संस्थाओ के लिए इसमे जोखिम कम होता है. सेक्योर्ड लोन की तुलना में इसमे जोखिम ज्यादा होता है.
3- ब्याज दर  जोखिम ज्यादा कम होने के कारण इसमे व्याज दर कम होती है. जोखिम ज्यादा होने के कारण इसमे व्याज दर ज्यादा होती है.
4- नुकसान लोन लेने वाला (Borrowers) लोन न चुकाने पर अपनी संपत्ति खो सकता है. अनसिक्योर्ड लोन में Borrowers को संपत्ति खोने का डर नहीं होता है.
5- पेपर वर्क और समय  सेक्योर्ड लोन में पेपर वर्क ज्यादा होती है. इसलिए लोन पास होने में समय लगता है. अनसिक्योर्ड लोन में पेपर वर्क कम होती है. इसलिए लोन जल्दी पास हो जाता है.
6- ऋण अवधि सेक्योर्ड लोन में ऋण अवधि ज्यादा होती है. अनसिक्योर्ड लोन में ऋण अवधि कम होती है.
7- उदाहरण होम लोन, गोल्ड लोन, संपत्ति पर ऋण और कार लोनके लिए सेक्योर्ड लोन लिए जाते है. अनसिक्योर्ड लोन पर्सनल खर्चे जैसे मेडिकल बिल, शादी के खर्चे के लिए जाते है.

सेक्योर्ड और अनसेक्योर्ड लोन FAQs

सेक्योर्ड लोन के किन डाक्यूमेंट्स की जरुरत पड़ेगी? 

सेक्योर्ड लोन के लिए आई डी प्रूफ, एड्रेस प्रूफ, सैलरी स्लिप, प्रॉपर्टी पेपर, बैंक स्टेटमेंट आदि की जरुरत पड़ती है.

सेक्योर्ड लोन कितने प्रकार के होते है?

मॉर्गेज लोन (Mortgage loan), होम लोन, कार लोन, प्रतिभूति-सीमित कर्ज़ (Nonrecourse loans), गोल्ड लोन

अनसेक्योर्ड लोन की अधिकतम Loan tenure (ऋण अवधि) कितनी होती है?

ज्यादातर बैंक 5 सालो के लिए अनसेक्योर्ड लोन देते है. मतलब आपको 5 सालो में सारा लोन चुकाना होता है. ऋण अवधि कुछ बैंको के भिन्न भी हो सकती है.

क्या स्व रोजगार वाला व्यक्ति अनसेक्योर्ड लोन (Unsecured Loans) ले सकता है?

हा स्व रोजगार वाला व्यक्ति (Self-Employed person) भी अनसेक्योर्ड लोन ले सकता है.

अनसेक्योर्ड लोन कितने प्रकार के होते है?

अनसेक्योर्ड लोन में पर्सनल लोन, एजुकेशन लोन, क्रेडिट कार्ड लोन और बिज़नेस लोन आते है.

अनसेक्योर्ड लोन क्यों लिए जाते है?

अनसेक्योर्ड लोन में पर्सनल जरुरत के लिए लिए जाते है

क्या मै अनसेक्योर्ड लोन को समय से पहले (Prematurely) बंद कर सकता हूँ?

हा आप अनसेक्योर्ड लोन को को दूसरे लोन की तरह समय से पहले बंद कर सकते है. हो सकता है बैंक वाले आपसे कुछ प्री क्लोजर फी  (pre-closure fee) ले.

अनसेक्योर्ड लोन को देने में बैंक वालो को कितना समय लगता है?

अनसेक्योर्ड लोन को अन्य लोन की अपेक्षा तेजी से बांटा जाता है. लोन को प्रोसेस होने में कम से कम 24 घंटे लग जाते है जो कि बैंक पर निर्भर करता है.

क्या मै अनसेक्योर्ड लोन के लिए ऑनलाइन अप्लाई कर सकता हूँ ?

हाँ, बहुत से बैंक और वित्तीय संस्थाए ऑनलाइन अप्लाई करने की सुविधा देने लगी है.

Unsecured Loan क्या होता है?

जब कोई लोन बिना किसी गारंटी के दिया जाता है तो वो अनसिक्योर्ड लोन कहलाता है. इस तरह के लोन बहुत जल्दी मिल जाते है

Secured Loan क्या होता है?

जब कोई संपत्ति गिरवी रखकर लोन लिया जाता है तो वो सेक्योर्ड लोन होता है.

सेक्योर्ड और अनसेक्योर्ड लोन में क्या अंतर होता है?

जब कोई संपत्ति गिरवी रखकर लोन लिया जाता है तो वो सेक्योर्ड लोन होता है. जैसे गोल्ड लोन, कार लोन, होम लोन और जब कोई लोन बिना किसी गारंटी के दिया जाता है तो वो अनसिक्योर्ड लोन कहलाता है. जैसे स्टूडेंट लोन, क्रेडिट कार्ड लोन

निष्कर्ष:Secured loan and unsecured loan in Hindi

दोस्तों मैंने यहा पर आपको सेक्योर्ड लोन क्या होता है और सेक्योर्ड लोन को हिंदी में क्या कहते है (Secured loan meaning in Hindi) अच्छे से बता दिया है इसी तरह अनसेक्योर्ड लोन के बारे में भी पूरी जानकरी दे दी है. और अनसेक्योर्ड लोन को हिंदी में क्या कहते है (Unsecured loan meaning in Hindi) ये भी जान गए है. सेक्योर्ड और अनसेक्योर्ड लोन में अंतर मैं आपको तुलना करके बता दिया है जिससे आपको दोनों लोन को अच्छे से समझने में आसानी होगी.

इस पोस्ट से जुड़ा कोई प्रश्न हो आप कमेंट करके पूछ सकते है. और कोई सुझाव हो तो आप वो भी बता  सकते है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Tata Mutual Funds are proved money doubling schemes Foreign banks FDs : High interest rates in India Top 10 loss-making companies in the country Where petrol is cheaper than tea, tax zero Fixed Deposit : Get 9% interest in 181 days