SBI Two-wheeler Loan

ऐसे चुटकियों में एसबीआई प्री-अप्रूव्ड टू-व्हीलर लोन प्राप्त करें

[ad_1]

SBI Two-wheeler Loan EMI : अगर आप दोपहिया वाहन खरीदने की योजना बना रहे हैं, तो भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) 251 रुपये प्रति 10,000 रुपये की ईएमआई के साथ ऋण दे रहा है। देश के सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ने हाल ही में इस ऑफर के बारे में ट्वीट किया है। इच्छुक ग्राहक किसी भी प्रश्न और विवरण के मामले में एसबीआई की आधिकारिक वेबसाइट sbi.co.in पर लॉग इन कर सकते हैं।

एसबीआई के ग्राहकों को पता होना चाहिए कि वे कुछ ही क्लिक में YONO ऐप के माध्यम से 24X7 आधार पर अपनी सुविधानुसार प्री-अप्रूव्ड टू-व्हीलर लोन तुरंत प्राप्त कर सकते हैं।

SBI Two-wheeler Loan Features

ऋण की विशेषताएं इस प्रकार हैं:

1) ऋण राशि 0.20 लाख रुपये से रु 3 लाख तक 48 महीने के लिए

2) ब्याज दर 10.50 प्रतिशत प्रति वर्ष से शुरू

3) ग्राहक की ऋण पात्रता के अधीन वाहन के on-road price का 85 प्रतिशत तक ऋण।

4) योनो के माध्यम से 24X7 उपलब्धता

5) ऋण स्वीकृत करने के लिए शाखा में जाने की आवश्यकता नहीं है।

SBI एक्सप्रेस क्रेडिट पर्सनल लोन के लिए ऑनलाइन अप्लाई कैसे करे?

SBI E-Mudra Loan-एसबीआई ई-मुद्रा लोन के लिए ऑनलाइन कैसे अप्लाई करे?

पात्रता की जांच कैसे करें?

इच्छुक ग्राहक 567676 पर “PA2W के अंतिम 4 अंक” लिखकर अपनी योग्यता जान सकते हैं।

SBI Two-wheeler Loan का कैसे लाभ उठाएं?

ऋण प्राप्त करने के लिए, किसी को कुछ सरल चरणों का पालन करना होगा। वे इस प्रकार हैं:

स्टेप 1: योनो में लॉग इन करें

चरण दो: ऑफर बैनर पर TAP to APPLY पर क्लिक करें

चरण 3: व्यक्तिगत विवरण की पुष्टि करें, वर्तमान कार्य विवरण दर्ज करें

चरण 4: अपनी पसंद के वाहन और डीलर का चयन करें और वाहन का on-road price दर्ज करें।

चरण 5: विवरण की समीक्षा करें और नियम और शर्तें स्वीकार करें

चरण 6: प्रक्रिया को पूरा करने के लिए ओटीपी दर्ज करें

किसी भी अन्य प्रश्न के लिए, इच्छुक ग्राहक एसबीआई की आधिकारिक वेबसाइट sbi.co.in पर लॉग इन कर सकते हैं।

[ad_2]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इन 4 शेयर्स ने इन्वेस्टर्स को रुलाया 5 shares gave up to 53.6% returns in 5 days Tata Mutual Funds are proved money doubling schemes Foreign banks FDs : High interest rates in India Top 10 loss-making companies in the country