डिजिटल रुपया क्या है

Digital Rupee: डिजिटल रुपया क्या है? Digital Rupee कब लांच होगा और इसके क्या फायदे है?

डिजिटल रूपी (Digital Rupee): 1 फ़रवरी 2022 को केंद्रीय बजट 2022 में  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को डिजिटल रुपया – एक केंद्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा (CBDC) को अप्रैल 2022 के बाद लॉन्च करने की घोषणा की। रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया इस डिजिटल मुद्रा पर तेजी से काम कर रहा है और जल्द ही इसे लांच कर दिया जायेगा.

डिजिटल रुपया-Digital Rupee in Hindi

डिजिटल रुपया क्या है?

“डिजिटल रुपया एक डिजिटल रूप में एक केंद्रीय बैंक द्वारा जारी एक कानूनी मुद्रा है। ये भौतिक करेंसी का ही डिजिटल रूप है. मतलब ये पारंपरिक मुद्रा रूपये के समान ही है. बस अंतर इतना है कि ये पूरी तरह से डिजिटल होगी. मतलब आप इसे नोट की तरह छू नहीं सकते है.”

डिजिटल रुपया की भी वही वैल्यू है जो नोट और सिक्को की होती है. आप इसे नोट के स्थान यूज जरुर कर सकते है. और ये किसी भी दूसरी मुद्रा या फिएट मुद्रा के साथ एक्सचेंज हो सकती है. डिजिटल रुपया ब्लाक चेन पर आधारित होगी. फिएट मुद्रा (Fiat currency) सरकार द्वारा समर्थित मुद्रा होती है. जैसे भारत की फिएट मुद्रा रुपया है.

CBDC का पूरा नाम क्या है?

CBDC का पूरा नाम Central Bank Digital Currency है. CBDC को हिंदी में एक केंद्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा कहते है. ऐसी मुद्रा किसी भी देश कि सेंट्रल बैंक जारी करती है. जैसे भारत का केंद्रीय बैंक RBI भारत में डिजिटल रुपया को जारी करेगा.

डिजिटल रुपया को कौन जारी करेगा?

भारतीय रिजर्व बैंक वित्त वर्ष 2022-23 से CBDC लॉन्च करेगा। यह CBDC को लॉन्च करने की सरकार की योजना का अनुसरण करता है जिसे ब्लॉकचेन तकनीक द्वारा समर्थित किया जाएगा।

डिजिटल रुपया के खास फीचर 

  • डिजिटल रुपया को ना तो छू पाएंगे और ना ही देख पाएंगे. मतलब इसका कोई भौतिक रूप नहीं होगा
  • ये पूरी तरह से क्रिप्टो करेंसी से अलग होगी.
  • इसे केंद्रीय बैंक RBI द्वारा जारी किया जायेगा.
  • इस डिजिटल रूपये से भी आप कोई भी ऑनलाइन पेमेंट कर सकेंगे.
  • ये इलेक्ट्रॉनिक रूप से आपके ऑनलाइन वॉलेट या बैंक में स्टोर रहेगा.
  • ये देश में लेन देन के लिए इसे क़ानूनी तौर पर मान्यता प्राप्त होगी. कोई भी इसे लेने से मना नहीं कर सकता है.
  • डिजिटल रूपी को आसानी से कैश में बदला जा सकता है.

डिजिटल रुपया के फायदे

  • 500 रूपये का नोट छापने में सरकार ₹2.65 खर्च करती है. उसके बाद उसे चलाना, संभालना, बैंक में पहुचाना भी खर्चीला होता है.  इसलिए डिजिटल रुपया से सरकार को बहुत सी समस्याओ से निजात मिलेगी.
  • आम लोगो को नकदी की सुरक्षा से आजादी मिलेगी. कही कैश ले जाने की जरुरत नहीं होगी.
  • काले धन में कमी आएगी. सरकार नोट कम छापेगी जिससे मार्केट में कैश कम होगा. लोगो के पास कैश होगा ही नहीं तो कोई भ्रस्टाचार भी कर पायेगा.
  • डिजिटल लेन देन के कारण सरकार हर लेन देन पर नजर रख पाएगी. जिससे टैक्स की चोरी रुकेगी.

ये भी देखे क्रिप्टो करेंसी क्या है? क्रिप्टो करेंसी और वास्तविक करेंसी जैसे रूपये में क्या अंतर है? यहाँ पर क्रिप्टो करेंसी के बारे में विस्तार से जानकरी दी गई है. आपके सारे भ्रम दूर हो जायेंगे.

क्रिप्टो करेंसी और डिजिटल रूपी में अंतर

डिजिटल रुपया और क्रिप्टो करेंसी में एक प्रमुख समानता है कि दोनों ही डिजिटल है. लेकिन दोनों में बहुत अंतर भी है. क्रिप्टो करेंसी और डिजिटल रूपी में प्रमुख अन्तर ये है कि क्रिप्टो करेंसी विकेंद्रीकृत (Decentralized) होती है. मतलब क्रिप्टो करेंसी पर किसी का नियंत्रण नहीं होता है. जबकि डिजिटल रूपी केंद्रीकृत (Centralized) सिस्टम  का भाग है. डिजिटल रूपी पर सरकार का नियंत्रण रहता है. कुछ अन्य अंतर एस प्रकार है.

डिजिटल रुपया क्रिप्टो करेंसी
1 डिजिटल रुपया पूरी तरह से क़ानूनी है ये सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त है. क्रिप्टो करेंसी प्राइवेट है. इसे भारत सरकार द्वारा वैध नहीं है.
2 डिजिटल रुपया का प्राइस स्टेबल रहेगा और ये सुरक्षित भी होगा क्रिप्टो करेंसी की प्राइस बहुत तेजी से ऊपर नीचे होती रहती है जिस कारण इसे सुरक्षित नहीं माना जाता है.
3 डिजिटल रुपया को भारतीय रिजर्व बैंक जारी करेगा जिससे इसमे जोखिम नहीं होगा. चूँकि क्रिप्टो करेंसी प्राइवेट है इसलिए इसमे जोखिम बहुत है. इसमे जवाबदेही किसी की नहीं होती है.
4 डिजिटल रुपया की धोखाधड़ी होने पर आप RBI से शिकायत कर सकते है. डिजिटल रुपया की जवाबदेही RBI की होगी. क्रिप्टो करेंसी में धोखाधड़ी होने पर जवाबदेही किसी की नहीं होती है.
5 लेन देन गुप्त रहता है लेकिन डिजिटल रूपी के लेन देन पर RBI की नजर रहेगी. क्रिप्टो करेंसी में लेन देन पब्लिक रूप से उपलब्ध होता है लेकिन इसमे ये पता नहीं चलता है कि वो लेन देन किसने किया है.

डिजिटल रूपी प्राइस-Digatl Rupee Price

अभी तक डिजिटल रूपी लांच नहीं हुआ है. लेकिन इसकी वैल्यू भौतिक रूपये के बराबर होगी.

मुझे डिजिटल रुपया कैसे मिलेगा?

डिजिटल रूपये जब लांच होगा तब इसको लेकर पूरा दिशा निर्देश  भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा किया जायेगा.

 क्या डिजिटल रुपया पर टैक्स लगेगा?

नहीं ये टैक्स फ्री होगा.

क्या डिजिटल करेंसी जैसे डिजिटल रूपी से हमें फायदा होगा?

डिजिटल रूपी से सरकार और जनता सबको फायदा होगा. इससे मनी लॉन्ड्रिंग, टेरर फाइनेंसिंग, टैक्स चोरी आदि कम हो जाएँगी. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि केंद्रीय बैंक की डिजिटल करेंसी से भारत की डिजिटल अर्थव्यवस्था को बड़े तौर पर बढ़ावा मिलेगा. 

ये भी पढ़े

निष्कर्ष: डिजिटल रुपया क्या है

ये हमारे देश में प्रचलन रहा है कि किसी की भी अच्छी बातो को लो और उसकी बुरी बातो को हटाकर उसमे और भी अच्छी बाते जोड़ दो.  क्रिप्टो करेंसी में कुछ अच्छी बाते भी है और कुछ नुकसान भी है. भारत सरकार ने इसकी अच्छी बातो को लेकर डिजिटल रुपया लांच करने की घोषणा की है. और ये अच्छी बाते भारत की इकॉनमी को डिजिटल रूप से बहुत तेजी से बदल देंगी.

मनी खबर टेलीग्राम और गूगल न्यूज़ पर भी है. moneykhabar.in को सपोर्ट करने के लिए गूगल न्यूज़ और टेलीग्राम पर फॉलो करे.

Leave a Comment

Your email address will not be published.